ना कामयाबी जैसी कोई चीज नहीं होती।

ना कामयाबी जैसी कोई चीज नहीं होती।

सफलता और विफलता आपके जीवन में आने वाले धान की मात्रा में नहीं होती सफलता और विफलता उस पहचान पर निर्भर नहीं है जो आप दुनिया में पा रहे हैं आप जीवन में सफल हैं अगर आप जानते हैं कि नर्क में से भी खुशी से कैसे करें मंदी नर्क नहीं है मैं जानता हूं कि इसमें कुछ हद तक ग्लोबल वॉर्मिंग भी शामिल है मगर वह नरक जितना गर्म नहीं है अब तक नहीं वह बिल्कुल भी बुरा नहीं है वह बहुत अच्छा है मुझे विश्वास है कि आप पर कम भोजन छोटे घर छोटी कार से काम चला सकते हैं या पैदल चला बहुत अच्छा है। तो आप की विफलता आपकी सेहत के लिए बहुत अच्छी हो सकती अपनी ही सेहत के खिलाफ ना हो।

विफलता जैसी कोई चीज नहीं है विफलता एक विचार है क्योंकि सफलता भी एक मूर्खतापूर्ण विचार है। आपका विचार है कि सफलता क्या है और विफलता क्या है? दुनिया को बदलने की कोशिश करने की बजाय अपना विचार बदलिए क्या यह आसान नहीं आप सिर्फ सफलता और विफलता का अपना विचार बदल दे। सब कुछ बढ़िया है ना अगर आप सड़क पर एक भिखारी होते आज आप किसी रेस्टोरेंट में जाकर एक मसाला डोसा खा कर ₹10 का बिल दे पाते तो यह आपकी सफलता का चरम शिखर होता है कि नहीं तो आप सामाजिक हालातों में फंस गए और यह आपका विचार भी नहीं है मैं आपको इसका श्रेय क्यों दे रहा हूं यह सफलता के बारे में किसी और का विचार किसी और के विचार का दास मत बनी कम से कम अपना विचार रखें |

आपके पास अपना कोई विचार नहीं है खुद को धोखा मत दीजिए हर खयाल हर विचार हर भावना हर मूल्य जो आपके पास है आपने कहीं और से उठाया है और वह अंदर से आप को नियंत्रित करता है वह अंदर से आपको चलाता है आपके धर्म आपके समाज आपकी संस्कृति ने आपको यह मानने के लिए प्रशिक्षित किया है कि यही वह है पहले पहली और महत्वपूर्ण सफलता यह है कि आप किसी और के विचार के दास नहीं है यह सफलता है जीवन के हालात जो भी हो आप जीवित हैं मतलब आप सफल हैं देखते हैं कि आप सफल हैं या नहीं यह सफलता है |

आप जीवित हैं आप जीवन का मूल्य नहीं जानते आप शेयर मार्केट का रोना रो रहे हैं आप जीवन का महत्व नहीं जानते क्योंकि ग्राफ ऊपर नीचे जा रहा है आप मरना चाहते हैं नहीं नहीं मगर मेरा बहुत नुकसान हो गया। ऐसी कोई चीज नहीं होती यह सब सामाजिक चीजें यह अस्तित्व की चीजें नहीं है हमने समाज अपनी खुशहाली के लिए बना है हमारा जान लेने के लिए नहीं। आपने अपना परिवार अपना सामाजिक ढांचा और हर दूसरी चीज अपने खुशहाली के लिए बनाई है अपनी जान देने के लिए नहीं है ना अब हर कमबख्त जी आपकी जान ले सकती उन चीजों को जिन्हें आप बनाते हैं चीज है जो इंसान बनाता है अपने जीवन से बड़ा मत बनाइए वही आपके कष्ट का कारण है।


Post a Comment

0 Comments