मौत के आखिरी 40 सेकंड में क्या होता है?

मौत के आखिरी 40 सेकंड में क्या होता है?

काल भैरव का मतलब है वह जो काले यह उनका एक आया मैं इसे कई तरीकों से देखा गया है कि शिव का एक भयंकर रूप है जब वह विनाश करने लगे किसी चीज का विनाश नहीं समय का विनाश देखिए सभी भौतिक चीजों की एक समय सीमा होते हैं अगर मैं आपके समय का नाश कर दूं तो सब खत्म तो काल भैरव का मतलब यही है क्योंकि ज्यादातर लोग जीवन में अच्छे से जीने का फैसला नहीं करते उनकी इच्छा होती है कम से कम उनकी मृत्यु शानदार तरीके से यही छोटी सी अच्छा लाखों लोगों को काशी खींच लाते हैं मरने के लिए तो जीवन के अंतिम चरण में लोग आए क्योंकि वह शानदार तरीके से नहीं जी पाए |

उनका सपना था कि वह कम से कम शानदार तरीके से मरे शानदार तरीके से मरने का मतलब है कि मृत्यु से ना सिर्फ शरीर का त्याग हो बल्कि मृत्यु से परम मुक्ति तक पहुंच पाए इस बात की गारंटी थी कि अगर आप काशी आते हैं तो आपको मुक्ति मिल जाएगी भले ही पूरी जिंदगी आप बेहद बुरे इंसान क्यों ना रहे हो तो तमाम बेकार लोगों ने वहां आना शुरू कर दिया क्योंकि उन्होंने पूरे तरीके से जीवन जिया और वह शानदार तरीके से मरना चाहते थे इसे बेकार लोगों की संख्या बढ़ने यह जगह खराब होती जा रही है इतनी बेकार लोगों के कारण वह खुद भी खराब बन गई इसलिए वह बोले इसे कंट्रोल करना जरूरी है जिसे आज भी आते हैं उसे उन्होंने शुरू किया था आपको पता है ना क्या मतलब यातना का अर्थ है भयंकर पीड़ा ऐसा आपके साथ में होता है पर वह इसे आपके साथ यही कर देंगे जीवन के आखिरी 40 सेकंड में अगर व्यक्ति चेतन है या वह किसी प्रतिष्ठित जगह में है तो हर इंसान के साथ स्पष्ट रूप से ऐसा होगा चाहे मृत्यु का कारण कुछ भी हो चाहे मृत्यु अधिक उम्र के कारण हो या बीमारी आखिरी 40 सेकंड में कई जनों के एकत्रित कर तेज गति से नजर आते उस पल इन 40 सेकंड में ही अगर आपने अज्ञानता का जीवन जिया हैं।

अगर आपने अचेतना का जीवन जिया है।  इन 40 सेकंड में अगर आप पर थोड़ी जागरूकता बनाए रखें तो वह कहते हैं कि आप कई जन्मों के एकत्रित कर्म से मुक्त हो जाएंगे आप सिर्फ 40 सेकंड के लिए एक तीव्र पीड़ा से गुजरेंगे और फिर शुद्ध हो जाएंगे और विलीन हो जाएंगे मूल रूप से आध्यात्मिकता का मतलब आपके जीवन को तेज गति से भगाना है आपका कष्ट भयंकर हो सकता है क्योंकि सब कुछ तीव्र गति से घटित हो रहा है जैसे आप 10 सालों तक ही इसे वह मान लीजिए 1 महीने में हो रहा है तो आप जिस कष्ट से गुजरते हैं उसकी तीव्रता बहुत अधिक होती है आनंद और खुशी के पल हो सकते हैं मगर कष्ट भयंकर होता है क्योंकि चीज है आपके अंदर तेज गति से घटित होती तो कम से कम अपने जीवन के अंत में प्रक्रिया को तेज करना चाहते हैं तो भैरवी यातना यह सब एक शक्तिशाली प्रतिष्ठित स्थान के कारण होता है |

 प्रतिष्ठित स्थान का अर्थ के एक चीज तो यही है कि यह जीवन केंद्रित हो जाए इसका मतलब है कि जीवन इतना एकाग्र हो जाए कि वह जबरदस्त गति से कर्म के ईंधन को जला दें कुछ समय बाद जब आपको इसकी आदत हो जाएगी तो और यात्रा नहीं होगी वह बस चलता रहेगा दरअसल आप तेज गति से चक्कर काट रहे तो यही एक प्रतिष्ठित स्थान का मकसद है काशी महत्वपूर्ण है क्योंकि जिस तरह से उसे बनाया गया उसकी कला उसकी सुंदरता उन दिनों कहते हैं कि धरती पर कोई दूसरा शहर इतना सुंदर नहीं था यह सब चीजें मिलकर वह एक बड़ा आकर्षण बन गया उन्होंने लोगों का ध्यान खींचने के लिए वह वातावरण तैयार किया तो काशी सिर्फ सुख और सुंदरता नहीं वह ऐसी जगह है जहां लोग दुख के सबसे तीव्र रूप को झेलते क्योंकि वह जीवन को बहुत तेज गति से भगा देते हैं कई जन्मों की चीजें एक ही पल में जल जाती है।


Post a Comment

0 Comments